सफल होने के लिए क्या जरुरी है (Safal Hone Ke Liye Kya Jaruri Hai)

हम सब अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं, और अगर आप यह लेख पढ़ रहें हैं तो जाहिर सी बात है की आप भी सफल होना चाहते हैं। लेकिन दोस्तों हम  में से बहुत कम लोग ही जीवन में कुछ बड़ा कर पाते हैं। और वो इसलिए नहीं की सफल होने के लिए लोग प्रयाश नहीं करते, या उनके भीतर इच्छाशक्ति की कमी है होती है। इसकी वजह कुछ और ही है। तो आप भी अगर जानना चाहते हैं की सफल होने के लिए क्या जरुरी है तो ये लेख आप के लिए है। जीवन में सफल होने के लिए और कुछ बड़ा करने के लिए जो सबसे महत्वपूर्ण गुण होता है, आज हम उस के बारे में बात करने वाले हैं। 

अगर मैं आप से पूछूँ की सफल होने के लिए क्या क्या जरुरी बाते हैं, तो शायद आप कहेंगे:

  • कठिन परिश्रम 
  • मजबूत इच्छाशक्ति 
  • एक निश्चित लक्ष्य 
  • निरंतर प्रयाश इत्यादि

हम सब जानते हैं की किसी भी काम में सफलता प्राप्त करने के लिए हमें कठिन परिश्रम करना होगा, अवसर को पहचानना होगा, खूब मेहनत और ईमानदारी से अपना काम करना होगा। जीवन में सफल होने के ये उपाय शायद हम सब जानते हैं। लेकिन इन से भी जरुरी एक बात है जो आपको पता होनी चाहिए।

लेकिन इन सब बातों से भी जरुरी कोई गुण है – और वो है ‘ना’ बोलना। 

अगर आपको जानना है की सफल होने के लिए सबसे जरुरी क्या है, तो इसका सब से सरल, और आसान उत्तर है की आप ‘ना’ बोलना सीख लीजिए। 

दोस्तों आज के युग में हम सब बहुत जल्दी में हैं – लेकिन सच्चाई ये है की जल्दी जल्दी के चक्कर में हम वो हर कुछ कर लेना चाहते हैं, हम हर एक अवसर को पकड़ लेना चाहते हैं। लेकिन ऐसा करने से तत्काल थोड़ा लाभ शायद मिल सकता है, लेकिन ये आपको जीवन में कुछ बड़ा और असाधारण करने नहीं देगा। इसलिए ये बहुत जरुरी है की आप सोच समझ कर अवसरों का चुनाव करें। 

अभी कुछ दिन पहले में श्री राजीव बजाज (प्रबंध संचालक, बजाज मोटरसाइकिल) का एक वीडियो देख रहा था। जिसमें उन्होंने कहा की महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni) उनके बहुत अच्छे मित्र हैं।  और उन्होंने कहा की धोनी हर खेल में माहिर हैं, उन्हें फुटबाल, क्रिकेट, टेनिस सब पसंद है, और वो इन सारे खेलों को बहुत ही अच्छे और एक प्रोफेशनल एथलिट की तरह खेलते हैं।  मतलब ये, की आप जब उनको फूटबाल खेलते देखेंगे तो आपको लगेगा नहीं की वो एक क्रिकेटर हैं। 

लेकिन उन्होंने सिर्फ क्रिकेट को चुना। 

ठीक उसी तरह बजाज मोटरसाइकिल चाहे तो कार भी बना सकती है, मगर वो ऐसा नहीं करते। ऐसा नहीं है की उनको अनुभव नहीं है, या पैसे की कमी है। वो इसलिए की श्री राजीव बजाज चाहते हैं की वो वर्ल्ड क्लास मोटरसाइकिल बनाएं, जो सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विस्व में चलाई जाए। और वो इसी लक्ष्य पर काम कर रहे हैं। 

कहने का मतलब ये की, भले ही आप को एक अवसर दिख रहा है, लेकिन इसका कतई ये मतलब नहीं है की आपको हर अवसर को पकड़ना है। 

आज के युग में अवसर की कमी नहीं है, अगर आप ठीक से देखेंगे तो आपको हर तरफ कुछ करने का अवसर दिखाई देगा। 

आज जब कॅरोना वायरस से लोगों की नौकरी जा रही है , बहुत लोगों के मासिक वेतन कट रहे हैं, या वेतन नहीं मिल रहा है, ऐसे समय में भी अवसरों की कोई कमी नहीं है। आप मास्क बना के बेच सकते हैं, रबर के दस्ताने इत्यादि बेच सकते हैं। 

लेकिन क्या आपको ये बेचना चाहिए? इसका उत्तर मैं नहीं दूंगा, आप दीजिए। 

कहते हैं की ‘ना’ बोलना सबसे कठिन होता है, खास कर तब जब आप के हाँ बोलने से आपको तुरंत में कुछ लाभ मिलने के आसार हों। लेकिन दोस्तों, याद रखिएगा अगर आप हर अवसर को हाँ बोलने लगेंगे तो, तो आप कुछ बड़ा नहीं कर पाएंगे। 

जीवन में सफल होने के लिए जरुरी है की आप एक बड़ा लक्ष्य बनाएं, और लक्ष्य को अपना जीवन बना लें। 

किसी भी काम को करने में, और उस काम को करते हुए सफल होने में सालों लग जाते हैं। 

और अगर आप दुनिया के सबसे बेहतरीन लोगों के जीवन का अध्ययन करेंगे तो आप पाएंगे की वो सब, किसी एक काम के पीछे ही अपना सर्वस्व समर्पित किए हैं। उदहारण के तौर पर बिल गेट्स – उन्होंने अपना पूरा जीवन सॉफ्टवेयर बनाने में लगा दिया। 

उनके पास पैसे की कमीं नहीं थी, और वो चाहते तोह फैक्ट्रीज भी लगा सकते थे, या फिर यूनिवर्सिटी खोल लेते जहाँ पैसा कमाने की अपार संभावनाएं हैं। लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया।  जो भी किया वो उनके सॉफ्टवेयर के बिज़नेस से रिलेटेड काम ही किया। 

दूसरा उदहारण श्री अनिल अम्बानी (Reliance ADAG Group) – ऐसा कोई बिज़नेस नहीं जो उन्होंने नहीं किया, आईटी सॉफ्टवेयर, म्यूच्यूअल फंड, सिनेमा, पावर प्लांट, डिफेंस इक्विपमेंट,टेलीफोन और ना जाने क्या क्या। और परिणाम आप के सामने हैं। वो किसी भी बिज़नेस को उस ऊंचाई तक नहीं ले जा पाए। 

ऐसा क्यों हुआ?

क्योंकि उनको हर जगह संभावनाएं नजर आ रही थी, जो की सच मुच में है भी, और उन्होंने हर संभावना और अवसर पकड़ने की कोसिस करी। और हुआ ये की बना बनाया रिलायंस मोबाइल बिज़नेस भी ठीक से चल नहीं पाया,वहीं रिलायंस जिओ आया और इस कंपनी ने मोबाइल की दुनिया ही बदल दी।

दुनिया की बेहतरीन कॉफ़ी स्टार बक्स में मिलती है। इतना बड़ा दूकान का नेटवर्क है उनका दुनियां भर में, क्या वो रेस्टुरेंट नहीं खोल सकते, बिलकुल खोल सकते हैं,लेकिन उनका लक्ष्य एक बेहतरीन कैफ़े बनाने का है जिसमें बेस्ट कॉफ़ी मिले।
दोस्तों ये बहुत जरुरी है की आप डिस्ट्रक्ट (distract) ना हों – क्योंकि जब ऐसा होगा तो आपको फायदा काम और नुकशान ज्यादा होगा।

और अगर आपको सच मुच् में कुछ बहुत बड़ा करना है, तो आप ज्यादातर संभावनाओं को ना करना सीखना पड़ेगा।  

सारांश

दोस्तों ये जीवन अनमोल और बेस कीमती है – और हम सब इस जीवन में वो सब कर सकते हैं जिसकी ज्यादातर लोग कामना नहीं कर सकते। लेकिन इसके लिए जरुरी है की आप एक बारे लक्ष्य बनाएं, और उसी लक्ष्य को अपना जीवन बना लें। कुछ बड़ा और बेहतरीन करने में बहुत समय, कम से कम १०००० घंटों का कठिन परिश्रम लगता है।

और दूसरी बात, आप जब भी एक साथ बहुत कुछ करना चाहेंगे, तो वो आप कुछ भी सही से नहीं कर पाएंगे। हम सब जानते हैं की असंभव कुछ भी नहीं, लेकिन सच्चा ये है की इतना आसान भी नहीं होता। और ऐसे में ये बहुत जरुरी है की आप एक लक्ष्य बनाएं और उसी में अपना बेस्ट से बेस्ट दें। जब आप ऐसा करेंगे, तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।

तो अगर आपको सच मुच में कुछ बड़ा करना है, बरी सफलता हासिल करनी है तो आपको सकारात्मक सोच के साथ, बिना विचलित हुए अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए वर्षों तक कठिन परिश्रम करना होगा। और ऐसा तभी संभव है, जब आप ‘ना’ करना सीख जाएंगे।

Leave a Comment